HAMNA

NEW DELHI:- राजस्थान उच्च न्यायालय ने भर्ती के लिए उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किया है। आवेदन प्रक्रिया नवम्बर के [अंतिम सप्ताह ]2020 से शुरू होना संभावित है। आवदेन जमा करने की या एग्जाम की कोई तिथि घोषित नहीं की गई है राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा 89 रिक्तियों के लिये अधिसूचना जारी की है जो राजस्थान जूडिशल सर्विस रूल 2010 के आधार पर वर्गीकृत हैhttps://hcraj.nic.in/

परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्मीदवार आवेदन पत्र भरना शुरू करेंगे। परीक्षा जल्द ही आयोजित की जाएगी और परीक्षा की तारीख की घोषणा बाद में की जाएगीhttps://hcraj.nic.in/

राजस्थान सिविल जज परीक्षा की चयन प्रक्रिया :
परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित किया जाता है,

  1. प्रारंभिक परीक्षा (वस्तुनिष्ठ प्रकार)
  2. लिखित मुख्य परीक्षा (विषय प्रकार)
  3. साक्षात्कार

(1)प्रारंभिक परीक्षा

परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की होगी।

प्रश्न पत्र में 100 प्रश्न होंगे प्रत्येक प्रश्न के लिये एक अंक होगा |

परीक्षा प्रश्न पत्र के लिए समय अवधि 02 घंटे होगी।

परीक्षा में कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

नोट: मुख्य लिखित परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति वर्ग के उम्मीदवारों को न्यूनतम 40o% अंक और अन्य सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों को प्रारंभिक परीक्षा में 45% न्यूनतम अंक प्राप्त करने होंगे।

(2) मुख्य परीक्षा

मुख्य परीक्षा सब्जेक्टिव टाइप होगी।

मुख्य परीक्षा में प्रथम एवं द्वितीय प्रश्न पत्र की अवधि 3 घंटे एवं 100 अंक का होगा |

भाषा के दो प्रश्न पत्र होंगे अंग्रेजी एवं हिंदी जो 50 अंक के होंगे और समय अवधि 2 घंटे होगी

नोट: उम्मीदवार को साक्षात्कार के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, प्रत्येक लॉ पेपर में न्यूनतम 35% अंक और मुख्य परीक्षा में कुल 40% अंक प्राप्त करने होंगे;

यह सुनिश्चित करने के लिए कि अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति वर्ग से संबंधित उम्मीदवार को साक्षात्कार के लिए पात्र माना जाएगा, यदि उसने प्रत्येक लॉ पेपर में न्यूनतम 30% अंक प्राप्त किए हों और मुख्य परीक्षा में कुल अंकों में 35% अंक प्राप्त किए हों।

परीक्षा का सिलेबस: परीक्षा का सिलेबस इस प्रकार होगा:

  • विधि प्रश्न पत्र (प्रथम ): –

नागरिक प्रक्रिया संहिता, 1908,
भारत का संविधान,
भारतीय अनुबंध अधिनियम, 1872,
भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 1872,
सीमा अधिनियम, 1963,
विशिष्ट राहत अधिनियम, 1963,
संपत्ति हस्तांतरण अधिनियम, 1882,
मूर्तियों की व्याख्या,
राजस्थान किराया नियंत्रण अधिनियम, 2001,
आदेश / निर्णय लेखन।

नोट :-सिविल प्रक्रिया विधि में उम्मीदवार के निर्णय लेखन को परखा जाता है उम्मीदवार निणर्य लेखन पर भी मुख्य रूप से ध्यान दें |

  • विधि प्रश्न पत्र (द्वितीय): –

दंड प्रक्रिया संहिता, 1973,
भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 1872,
भारतीय दंड संहिता, 1860,
किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम, 2015,
परक्राम्य लिखत अधिनियम, 1881 (अध्याय 12II), की परिवीक्षा अपराधी अधिनियम, 1958,
घरेलू हिंसा अधिनियम, 2005,
चार्ज / जजमेंट राइटिंग से महिलाओं का प्रोटेक टियन।

नोट:- आपराधिक विधि के प्रश्न पत्र में उम्मीदवार से निर्णय आरोप पत्र एवं निर्णय लेखन को भी परखा जाता है |

हिंदी प्रवीणता:

शब्द रचना: संधि और संधि विच्छेद , समास, उपसर्ग, प्रत्यय |

शब्द प्रकार: (क) तत्सम, युक्तितम्, तद्भव, देशज, विदेशी |
(ख) संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया, अव्यय (क्रिया विशेषण, सम्बन्ध सूचक, विस्मयबोधि निपात)
शब्द ज्ञान: पर्यायवाची, विलोम शब्द, शब्द युग्मों का अर्थ भेद, वाक्यांश के लिए सार्थक शब्द, संश्रुत भिन्नार्थक शब्द, समानार्थी शब्दो का विवेक, उपयुक्त समद चयन, संबोधन बची शब्दावली |
शब्द शुचिता |

व्याकरणिक लक्षण: परसर्ग, लिंग, वचन, पुरुष, काल, वृत्ति (मूड), पक्ष (पहलू), वाच्य (आवाज) |
वाक्य रचना |
वाक्यबद्धता |
विरामिंजेंस का प्रयोग |
मुहावरे / लोकोक्तियाँ |

द्विभाषिक शब्दावली: प्रशासनिक, विविध (विशेष) |

अंग्रेज़ी कुशलता :

  • Tenses
  • Articles and Determiners Phrasal Verbs and Idioms
  • Active & Passive Voice
  • Co-ordination & Subordination
  • Direct and Indirect Speech
  • Antonyms and Synonyms.
  • Modals expressing various concepts-
  • (Obligation. Request, Permission, Prohibition, Intention, Condition Probability,
  • Possibility, Purpose, Reason, Companions. Contrast)

निबंध लेखन :- निबंध हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओं में लिखने को मिलेंगे उम्मीदवारों से अपेक्षा की जाती है वर्तमान में चल रहे सामजिक मुद्दों पर विधि किस प्रकार सम्बंधित है

साक्षात्कार :- साक्षात्कार 35 अंक का होगा ,प्रत्येक परीक्षा के साक्षात्कार के शुरुआत में स्कूल एवं कॉलेज के रिकॉर्ड के बारे में पूछा जा सकता है उसके बाद वर्तमान समय में चल रहे क़ानूनी मुद्दों पर बहस और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय, अन्य विषयों पर उम्मीदवार से प्रश्न पूछे जा सकते हैं उम्मीदवार जिस राज्य की परीक्षा दे रहे हैं उस राज्य से संबंधित रीति रिवाजों एवं राज्य से जुड़े विषयों से प्रश्न पूछे जा सकते हैं

आवेदक राजस्थान उच्च न्यायालय की वेबसाइट पर जाकर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं -https://hcraj.nic.in/hcraj/https://hcraj.nic.in/hcraj/

Leave a Reply

Your email address will not be published.